February 1, 2023, 10:15 pm

DTH Recharge Fraud: DTH रिचार्ज के नाम पर रिटायर्ड IAS से ठगी, ऐसे हुए साइबर फ्रॉड के शिकार

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday December 12, 2022

DTH Recharge Fraud: DTH रिचार्ज के नाम पर रिटायर्ड IAS से ठगी, ऐसे हुए साइबर फ्रॉड के शिकार

DTH Recharge Fraud: देशभर में ऑनलाइन धोखाधड़ी और साइबर फ्रॉड के मामले बढ़ते जा रहे है। कभी बिजली बिल के नाम पर तो कभी फ्री गिफ्ट के नाम पर लोग इसके शिकार बन रहे हैं। अब लोगों को DTH रिचार्ज के नाम पर चूना लगाया जा रहा है। ऐसा ही एक चौंका देने वाला मामला नोएडा से आया है। जहां DTH रिचार्ज के नाम पर रिटायर्ड आईएएस से ठगी (fraud with retired IAS) की गई।

क्या है मामला ?

साइबर फ्रॉड करने वालों ने किसी को भी नहीं छोड़ा है। फिर चाहे वे पढ़े-लिखे लोग हों या फिर अनपढ़। दिल्ली से सटे नोएडा में साइबर फ्रॉड करने वालों ने एक रिटायर्ड IAS को झांसे में लेकर उनसे 29 हजार रुपये की ठगी कर ली। ठगी की शिकायत रिटायर्ड आईएएस ने पुलिस में की है. पुलिस ने शिकायत के आधार पर अज्ञात ठगों पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. खास बात यह है कि ठगी के इस पूरे वारदात कोDTH रिचार्ज (DTH Recharge Fraud) के नाम पर दिया गया।

 

कैसे की गई ठगी ?

रिटायर्ड आईएएस विजय कुमार दीवान  ने पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले वह गूगल पर डीटीएच रिचार्ज (DTH Recharge Fraud) कराने के लिए कस्टमर का नंबर ढूंढ रहे थे, इस दौरान उन्हें डीटीएच कंपनी का एक कस्टमर केयर नंबर मिला. जिस पर उन्होंने कॉल किया. इस दौरान उनकी एक व्यक्ति से  बातचीत हुई. जिसने खुद को  डीटीएच कंपनी का कर्मचारी होने की बात कही. इसके बात आरोपी ने उन्हें ऑनलाइन डीटीएच रिचार्ज करने के लिए उनके फोन पर एनीडेस्क ऐप डॉउनलोड करा दिया. उन्होंने बताया जैसे ही एनीडेस्क ऐप डॉउनलोड हुआ उनका फौन हैक हो गया. इसके बाद आरोपियों ने कई बार में उनके खाते से कुल 29 हजार रुपये निकाल लिए. ठगी की जानकारी होने पर उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में की.

ये भी पढ़ें-

Anjali Arora Dance Video: अंजलि अरोड़ा ने हरियाणवी गाने पर हॉट ड्रेस पहनकर बनाई रील, मूव्स देख यूजर्स रह गए दंग

पुलिस का कहना है कि उन्हें ठगी की शिकायत मिली है. मामले की जांच की जा रही है. पुलिस ने इस मामले में नोएडा के सेक्टर 20 थाने में शिकायत दर्ज कर ली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.