July 17, 2024, 9:43 pm

Electricity Supply News: खुशखबरी, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में अब नहीं होगी बिजली गुल… नए सबस्टेशन तैयार

Written By: गली न्यूज

Published On: Thursday June 27, 2024

Electricity Supply News: खुशखबरी, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में अब नहीं होगी बिजली गुल… नए सबस्टेशन तैयार

Electricity Supply News: ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद के लोगों के लिए खुशखबरी है। अब इन इलाकों में बिजली की समस्या से लोगों को परेशान नहीं होना पड़ेगा। इसके लिए तीन नए सबस्टेशन बनकर तैयार हो गए हैं।

क्या है पूरा मामला

बतादें, उत्तर प्रदेश (Electricity Supply News) के दो प्रमुख शहरों ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद में बिजली आपूर्ति में आमूल-चूल परिवर्तन की तैयारी है। इस वर्ष की भीषण गर्मी में हुई बिजली कटौती के बाद उत्तर प्रदेश पॉवर कॉरपोरेशन ने एक महत्वाकांक्षी योजना तैयार की है। जिसके तहत अब लोगों को घंटो तक बिजली गुल रहने की समस्या से परेशान नही होना पड़ेगा।

ग्रेटर नोएडा में नवीनीकरण

1. मेट्रो डिपो में 220 केवी का नया सबस्टेशन (निवेश: 70 करोड़ रुपये)
2. इकोटेक सेक्टर 8 और 10 में दो नए 132 केवी सबस्टेशन (निवेश: 120 करोड़ रुपये)

उत्तर प्रदेश पावर ट्रांसमिशन कॉरपोरेशन लिमिटेड (UPPTCL) के कार्यकारी अभियंता अभिषेक सिंह ने कहा, “जुलाई के अंत तक ये तीनों नए सबस्टेशन चालू हो जाएंगे। इससे ग्रेटर नोएडा और आसपास के 118 गांवों में बिजली आपूर्ति में क्रांतिकारी सुधार होगा।”

गाजियाबाद में सुधार

गाजियाबाद के जोन 3 में दो प्रमुख सबस्टेशनों का उन्नयन किया जा रहा है..

1. अहिंसा खंड सबस्टेशन
2. राजेंद्र नगर सबस्टेशन

इस मामले में PVVNL जोन 3 के मुख्य अभियंता अजय ओझा ने बताया, “दोनों 20MVA सबस्टेशनों की क्षमता 25 MVA तक बढ़ाई जा रही है। जुलाई से इनसे बेहतर बिजली आपूर्ति शुरू हो जाएगी।” इससे राजेंद्र नगर, शक्ति खंड, और अहिंसा खंड के आसपास के क्षेत्रों को लाभ होगा।

इस वर्ष गर्मी के कारण बिजली की मांग में रिकॉर्ड वृद्धि देखी गई…
  •  नोएडा : 2,428 मेगावाट (पिछले वर्ष से लगभग 20% अधिक)
  • गाजियाबाद : 1,600 मेगावाट (पिछले वर्ष से लगभग 23% अधिक)
  •  ग्रेटर नोएडा : 730 मेगावाट (पिछले वर्ष से लगभग 33% अधिक)

यह भी पढ़ें…

Cyber Crime News: एसीपी का बेटा हुआ ठगी का शिकार, डरा धमकाकर ठगों ने ट्रांसफर कराए लाखों रुपए

क्या है भविष्य की योजना

1. बेहतर और निरंतर बिजली आपूर्ति
2. ओवरलोडिंग और स्थानीय खराबियों में कमी
3. औद्योगिक विकास को बढ़ावा
4. आम जनता को गर्मी से राहत

इस प्रकार, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद के निवासियों को जल्द ही बिजली संबंधी समस्याओं से निजात मिलने की उम्मीद है। यह परियोजना न केवल वर्तमान चुनौतियों का समाधान करेगी, बल्कि भविष्य की जरूरतों के लिए भी इन शहरों को तैयार करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.