December 9, 2022, 12:54 am

Plastic eggs : अंडे के नाम पर कहीं आप प्लास्टिक तो नहीं खा रहे! ऐसे चेक कर लें

Written By: गली न्यूज

Published On: Wednesday November 9, 2022

Plastic eggs : अंडे के नाम पर कहीं आप प्लास्टिक तो नहीं खा रहे! ऐसे चेक कर लें

Plastic eggs:  सर्दियों का मौसम आते ही देश में अंडों की डिमांड (Eggs Demand in winter season) बढ़ने लगती है. लोग सर्दियों में अंडा ज्यादा खाना पसंद करते है. लेकिन क्या आप जानते हैं जो अंडा आप खा रहे हैं क्या वह असली है? जी हां, आपने बिल्कुल सही सुना आपने, दरअसल मार्केट में आजकल नकली अंडे भी बिक रहे हैं. अंडे को असली या नकली होने की पहचान किए बिना खाना आपके लिए खतरनाक साबित हो सकता है.

नकली अंडे का असर

प्लास्टिक के अंडे (Plastic eggs) खाने से सेहत तो बिलकुल नहीं बनती बल्कि और खराब हो जाती है. हाल ये हो जाता है कि लगातार प्लास्टिक के अंडे खाने से लोग बीमार पड़ जाते हैं और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल तक जाना पड़ जाता है. https://gulynews.com की इस खबर में हम आपको बताएंगे की अंडों की सही पहचान कैसे करें…

कहां से आते हैं ये अंडे ? 
चीन की फैक्ट्रियों में प्लास्टिक के अंडे तैयार किए जाते हैं. देखने में ये बिलकुल असली अंडे की तरह होते हैं. चीन इन अंडों को सही अंडों के साथ मिक्स करके एक्सपोर्ट कर देता है. जिससे बिना पकड़ाए ये अंडे भारत की बाजारों में पहुंच जाते हैं.
क्या है पहचान ?
प्लास्टिक के अंडों की पहचान करना आसान काम नहीं है, अगर इसे अन्य अंडों के साथ मिक्स करके रख दिया जाए तो शायद ही इसे पकड़ा जा सकता है. इसे पहचाने के लिए अंडों को गौर से देखना जरूरी है. असली अंडा, जहां चिकना होता है, वहीं नकली अंडा खुरदरा होता है. साथ ही अंडे के अंदर का पीला भाग भी ज्यादा गहरे रंग का होता है. नकली अंडे का सफेद वाला हिस्सा, उबालने के बाद हार्ड रहता है, जबकि असली वाला मुलायम.
नेचुरल अंडे खाने के फायदे ?

अंडे प्रोटीन का सबसे अच्छा सोर्स हैं. ये शरीर में कुछ विटामिन और मिनिरल्स की कमी को भी पूरा करते हैं. जैसे- विटामिन ए, विटामिन बी, विटामिन बी12, विटामिन डी, आयोडीन, ओमेगा-3 आदि. आमतौर पर एक अंडे में लगभग 6 ग्राम प्रोटीन होता है.

दिन में कितने अंडे खाने चाहिए ? 

अंडे खाने की संख्या आपकी उम्र, जेंडर, पर्सनालिटी और लाइफ स्टाइल पर ज्यादा निर्भर करती है. हर रोज कुछ किलोमीटर चलने के बाद भी ज्यादातर बुजुर्गों का डाइजेस्टिव सिस्टम स्लो होता है. वहीं एक ओर जिम जाने वाला यंग इंसान तेजी से कैलोरी को बर्न कर सकता है. इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर से पूछकर ही अंडे खाने की संख्या तय करें.

यह भी पढ़ें:-

Actress Pregnant Before Marriage: आलिया भट्ट से लेकर दीया मिर्जा तक शादी से पहले प्रेग्नेंट हुए ये एक्‍ट्रेसेस

Leave a Reply

Your email address will not be published.