December 9, 2022, 1:48 am

जीवन रक्षक दवाओं के नाम पर बिक रहा था जहर, दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने किया खुलासा

Written By: गली न्यूज

Published On: Tuesday November 15, 2022

जीवन रक्षक दवाओं के नाम पर बिक रहा था जहर, दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने किया खुलासा

Fake Medicines in noida: दिल्ली की स्पेशल सेल को बड़ी कामयाबी मिली है. दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच (Delhi Police Crime Branch) ने नकली दवा (Fake medicines) बनाने वाले ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो आपके जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे थे. कैंसर की नकली दवाई बेचने वाले गिरोह के गैंग का खुलासा करते हुए दिल्ली पुलिस ने सात बदमाशों को गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के मुताबिक, ये गिरोह दिल्ली-एनसीआर समेत कई राज्यों में सक्रिय है और नकली दवाइयों की सप्लाई करता है.

क्या है मामला ?

दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच (Delhi Police Crime Branch) ने नकली दवाई का धंधा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की है. कैंसर की नकली दवाई बेचने वाले गिरोह के गैंग का खुलासा करते हुए दिल्ली पुलिस ने सात बदमाशों को गिरफ्तार किया है. जांच के दौरान न केवल सात लोगों को गिरफ्तार किया है, बल्कि इनकी निशानदेही पर करीब आठ करोड़ रुपये की दवाइयां भी जब्त की हैं.

बता दें कि, सभी आरोपियों के तार विदेश से जुड़ते नजर आ रहे हैं. बताया जा रहा है कि इन आरोपियों के लिंक नेपाल, बांग्लादेश और चीन से जुड़े हैं. माना जा रहा है कि इसमें अंतरराष्ट्रीय गिरोह भी शामिल हो सकता है.

पुलिस पूछताछ के आधार पर जानकारी सामने आ रही है कि इनका गिरोह दिल्ली-एनसीआर में सक्रिय है. इसके साथ ही ये यूपी और हरियाणा में भी नकली दवाई बेचने का धंधा करते थे.

जानकारी में यह भी पता चला है कि आरोपित कैंसर मरीज के परिजनों से फोन पर संपर्क कर ऑनलाइन दवा भेजते थे. इसके अलावा भागीरथ पैलेस के दवा विक्रेताओं के जरिए भी नकली दवा बेची जा रही थी. ऐसे में दिल्ली पुलिस शक के आधार पर दवाई विक्रेताओं के यहां पर भी छापेमारी कर सकती है. फिलहाल इन सभी से पूछताछ जारी है.

पढ़ें: https://gulynews.com/amazon-is-preparing-to-lay-off-many-employees/

पुलिस का कहना है कि फर्जी कैंसर और जीवन रक्षक दवा बनाने वाले गिरोह को पकड़ा गया है. इसमें सात लोगों की गिरफ़्तारी हुई है, जिसमें डॉक्टर, इंजीनियर, एमबीए करे हुए लोग शामिल हैं. कुछ लोग फरार हैं, जिनको जल्द पकड़ा जाएगा. यह लोग कीमती दवाओं को यह कहकर बेचते थे कि यह भारत में नहीं मिलती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.