October 7, 2022, 6:31 am

Atal Pension Yojna Rule Change: टैक्सपेयर्स को केंद्र सरकार का बड़ा झटका, अटल पेंशन योजना में किया बड़ा बदलाव

Written By: गली न्यूज

Published On: Sunday August 14, 2022

Atal Pension Yojna Rule Change: टैक्सपेयर्स को केंद्र सरकार का बड़ा झटका, अटल पेंशन योजना में किया बड़ा बदलाव

Atal Pension Yojna Rule Change: देश के टैक्सपेयर्स (Tax Payers)  को केंद्र सरकार (Central government) ने एक बार फिर से बड़ा झटका दिया है। सरकार ने अपनी महत्वाकांक्षी योजना स्कीम अटल पेंशन योजना में निवेश के नियमों को बदल दिया है।  इसी बदलाव ने देश के टैक्सपेयर्स को बढ़ती महंगाई के बीच एक बड़ा झटका दिया।

क्या किया बदलाव ? 

नरेंद्र मोदी सरकार जब 2014 में सत्ता में आई थी तब उसने अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojna) लॉन्च की थी। लेकिन सरकार ने अब उसके नियमों (Atal Pension Yojna Rule Change) में बदलाव कर दिया है। नए नियम के मुताबिक 1 अक्टूबर 2022 से अटल पेंशन योजना के तहत टैक्सपेयर्स अकाउंट नहीं खुलवा सकते।  सरकार का यह नियम टैक्सपेयर्स के लिए एक बुरी खबर मानी जा रही है।

सरकार ने जारी किया नोटिफिकेशन

केंद्र सरकार ने बकायदा इस बारे में एक नोटिफिकेशंस भी जारी कर दिया है। वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवा विभाग यानी मिनिस्ट्री ऑफ फाइनेंस (Finance Ministry) के डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंसियल सर्विसेज ने इस बारे में एक नोटिफिकेशन जारी किया है। इस नोटिफिकेशंस ने साफ तौर पर कहा गया है कि ‘1 अक्टूबर 2022 से टैक्स पेयर्स अटल पेंशन योजना में शामिल नहीं हो सकते हैं।’

नोटिफिकेशन में क्या है?

नोटिफिकेशन में कहा गया है कि 1 अक्टूबर को या उसके बाद अटल पेंशन योजना स्कीम में अगर कोई टैक्सपेयर्स शामिल होता है तो उसके अकाउंट को तुरंत बंद कर दिया जाएगा । साथ ही इसके बाद उस समय तक जमा पेंशन अमाउंट को वापस कर दिया जाएगा।  इसमें किसी भी तरह की गड़बड़ी न हो इसके लिए सरकार समय-समय पर इसका रिव्यु भी करेगी।

दरअसल अटल पेंशन योजना का हिस्सा बनने पर 60 साल की उम्र के बाद नियमित कमाई शुरू हो जाती है इस स्किम से जुड़ने वालों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। यही कारण है कि सरकार ने इस योजना को टैक्सपेयर्स के लिए बंद करने का फैसला लिया है। ताकि उस पर ज्यादा दबाव न पड़े।

कब लॉन्च की थी योजना ?

मोदी सरकार ने साल 2015- 16 में अटल पेंशन योजना लॉन्च की थी। इस योजना का लाभ खासतौर से उन लोगों के लिए था जो किसी भी तरीके से सरकारी पेंशन का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं । केंद्र सरकार ने जो जानकारी दी है उसके मुताबिक वित्त वर्ष 2022  तक इस स्कीम से अब तक चार करोड़ से ज्यादा लोग जुड़ चुके हैं। जिसमें से 99 लाख लोग सिर्फ वित्त वर्ष 2022 में जुड़े थे। पीएफआरडीए यानी पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) के मुताबिक अटल पेंशन योजना में करीब 44 फीसदी महिलाएं हैं।

अटल पेंशन योजना के फायदे 
  • 9 मई 2015 को लांच किए किया गया यह स्कीम
  • खासतौर से प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले लोगों को ध्यान में रखते हुए यह योजना लागू की गई थी
  • 18 से 40 साल का कोई भी भारतीय नागरिक इसका लाभ ले सकता है
  • 60 साल के बाद पेंशन मिलनी शुरू हो जाती है
  • हालांकि इसमें किया गया निवेश आपकी उम्र पर निर्भर करता है
  • कम से कम ₹1000 और अधिकतम ₹5000 प्रति महीना पेंशन मिलता है
  • बड़ी बात यह है कि सब्सक्राइब की मौत होने पर नॉमिनी को पेंशन राशि दी जाती है
  • इस योजना के तहत कम से कम 20 साल तक निवेश करना होता है

यह भी पढ़ें:-

Route Diversion for 15th August 2022: इन इलाकों में रहेगा रुट डायवर्ट, पढ़ें नई गाइडलाइंस

Leave a Reply

Your email address will not be published.