February 6, 2023, 1:47 am

Ashram Flyover: दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद के लोगों के लिए बुरी खबर, Ashram Flyover इतने महीने तक बंद

Written By: गली न्यूज

Published On: Thursday December 22, 2022

Ashram Flyover: दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद के लोगों के लिए बुरी खबर, Ashram Flyover इतने महीने तक बंद

Ashram Flyover: अगर आप दिल्ली, नोएडा या फिर गाजियाबाद में रहते हैं तो आपके लिए एक बुरी खबर है. लगभग 45 दिन आपको इस समस्या से रोज गुजरना होगा. ऑफिस आने-जाने वाले लोग हों या स्कूल जाने वाले बच्चे सभी को कम से कम 45 दिन तक जाम की समस्या सेका सामना करना होगा. दरअसल, अगले हफ्ते से आश्रम फ्लाईओवर (Ashram Flyover) के एक्सटेंशन का काम PWD शुरू करने जा रहा है. दोनों कैरिजवे पर ट्रैफिक रोक दिया जाएगा. वहीं, दिल्ली ट्रैफिक पुलिस (delhi traffic police) ने PWD को अस्थाई रूप से  फ्लाईओवर को बंद करने की इजाजत दे दी है.

https://gulynews.com की जानकारी के अनुसार 25 दिसंबर के बाद कभी भी काम शुरू हो सकता है. एक्‍सटेंशन पूरा होने में फरवरी 2023 के दूसरे हफ्ते तक का वक्‍त लग सकता है. पुलिस ने PWD को काम पूरा करने के लिए 45 दिन का समय दिया है. पीक ऑवर्स के दौरान, आश्रम चौक से कम से कम 3-4 लाख गाड़‍ियां गुजरती हैं. आश्रम फ्लाइओवर बंद हुआ तो बारापूला फ्लाइओवर, कालिंदी कुंज, मथुरा रोड और ITO पर ट्रैफिक का दबाव बढ़ जाएगा. लोगों को थोड़ी राहत देने के लिए स्लिप रोड्स से ट्रैफिक मूवमेंट की अनुमति रहेगी.

क्या है प्लान ?

आश्रम फ्लाइओवर को बढ़ाकर इसे दिल्‍ली-नोएडा डायरेक्‍ट फ्लाइवे (Delhi-Noida Direct Flyway) से जोड़ने का प्‍लान PWD काफी वक्‍त से बना रहा था. फाइनल इंटीग्रेशन के लिए नवंबर की डेडलाइन थी जो मिस हो गई. अब अधिकारियों को जनवरी के आखिर तक काम पूरा होने की उम्‍मीद है.

आश्रम फ्लाइओवर बंद होने से कितनी प्रॉब्‍लम होगी?

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आश्रम फ्लाईओवर सबसे ज्यादा चलने वाला रास्ता है और पीक ऑवर्स में तो हमेशा ही जाम लगा रहता है. ऐसे में जब यह फ्लाईओवर बंद हो जाएगा तो ट्रैफिक का सारा दबाव बारापूला फ्लाइओवर, कालिंदी कुंज, मथुरा रोड और ITO पर आ जाएगा. इस रास्ते से सभी भारी गाड़ियां गुजरते हैं. DTC बसों से तो यह रास्ता भरा रहता है. जब नो-एंट्री हटा दी जाती है तो ट्रक भी इसी रास्ते से गुजरते हैं. लोगों को 45 दिन की यह मुसीबत खूब रूलाने वाली है. ऐसे में तो कई लोग रोडवे से जाना छोड़कर मेट्रो में सफर करने लगेंगे. जिससे मट्रो में भी काफी भीड़ होगी.

ट्रैफिक पुलिस के लिए चुनौती

दिल्ली जैसी जगह, जहां पहले से ही क्षमता से ज्यादा लोग रहते हैं. तो हर जगह जाम लगना तो बहुत ही नॉर्मल सी बात है. ऐसे में आश्रम फ्लाईओवर बंद होने से ट्रैफिक पुलिस के सामने एक बहुत बड़ी चुनौती है. ट्रैफिक पुलिस ने कहा कि वे नोडल एजेंसी के संपर्क में हैं. ट्रैफिक फ्लो को आसान बनाने के लिए हर कदमों पर चर्चा हो रही है. वहीं लोगों को स्लिप रोड्स से गुजरने की अनुमती रहेगी. हालांकि दिल्‍ली सरकार ने इसी साल आश्रम चौक पर अंडरपास पूरा किया है. ट्रैफिक पुलिस ने आश्रम फ्लाइओवर के दोनों तरफ सड़कों की री-कारपेटिंग का सुझाव दिया है इससे वाहनों की आवाजाही स्‍मूद हो सकती है. इसके अलावा कुछ और उपायों पर भी ट्रैफिक पुलिस सोच रही है.

प्रोजेक्‍ट पूरा होने पर 9KM लंबा स्‍ट्रेच होगा सिग्‍नल-फ्री

128.25 करोड़ रुपये के प्रोजेक्‍ट में 1.42 किलोमीटर लंबा छह लेन का फ्लाइओवर बन रहा है. यह आश्रम ओवरपास को DND से जोड़ेगा. एक बार यह प्रोजेक्‍ट पूरा होने पर मूलचंद फ्लाइओवर से नोएडा के रजनीगंधा चौक तक 9 किलोमीटर लंबा स्‍ट्रेच सिग्‍नल-फ्री हो जाएगा. एक्‍सटेंडेड फ्लाइओवर बनने के बाद किलोकरी से बस 100 मीटर दूर यू-टर्न लेकर रोड क्रॉस कर पाएंगे. महारानी बाग और साउथ दिल्‍ली जाना आसान होगा. नोएडा, आईटीओ और गाजियाबाद जाने के लिए यू-टर्न की खातिर महारानी बाग से सराय काले खां के बीच एक किलोमीटर की दूरी तय नहीं करनी पड़ेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.