December 9, 2022, 12:44 am

सुपरटेक की इस सोसाइटी में फिर सुसाइड, आखिर बार-बार इतनी दर्दनाक खबर क्यों ?

Written By: गली न्यूज

Published On: Monday July 11, 2022

सुपरटेक की इस सोसाइटी में फिर सुसाइड, आखिर बार-बार इतनी दर्दनाक खबर क्यों ?

A man committed suicide in Supertech Ecovillage-1 Society: ग्रेटर नोएडा वेस्ट की सुपरटेक इकोविलेज-1 सोसायटी के टावर E-6 की 19वीं मंजिल के फ्लैट नंबर 1903 में एक युवक ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया है. युवक की उम्र 38 साल बताई जा रही है. जानकारी के मुताबिक युवक किराए पर रहता था. फिलहाल आत्महत्या की वजह पारिवारिक कलह बताई जा रही है. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

बता दें कि, सुपरटेक इकोविलेज-1 सोसायटी में कुछ महिनों पहले ही 30 साल के मेडिकल स्टूडेंट ने सुसाइड कर लिया था. खबरों के मुताबिक मृतक गौरव अपनी मां के साथ टावर B-11 16वीं मंजिल पर रहता था और मेडिकल एग्जाम की तैयारी कर रहा था. लेकिन उसे सफलता नहीं मिल पा रही थी. इसी टेंशन में युवक ने अपने टावर से कूदकर जान दे दी थी. ऐसे ही सुसाइड  के कई मामले सुपरटेक इकोविलेज-1 सोसायटी से सामने आ चुके हैं.

पढ़ें: 7,999 रुपये में मिल रहा iPhone, ये आइफोन खरीदना कितना सही है? इन बातों का रखें ख्याल

सुसाइड करने से कैसे बचे?
कई बार लोगों में हताशा और उदासी की भावनाएं इतनी प्रबल हो जाती हैं कि, लोग सुसाइड करने का मन बनाने लगते हैं. डिप्रेशन, कोई गहरा सदमा या मानसिक परेशानियां हर किसी को प्रभावित करती हैं. जब ये परेशानियां बहुत अधिक बढ़ जाती हैं तो सुसाइड जैसे ख्याल आते हैं. लेकिन, अगर  लोगों को पता हो कि ऐसी भावनाओं को कैसे कंट्रोल कर सकते हैं तो आपके लिए भी इस स्थिति से बचने में मदद होगी. इसीलिए, अगर आपके आसपास किसी व्यक्ति में सुसाइड करने के विचार आते दिखें तो उनकी मदद इस तरह करें.
सबसे पहले अपने आसपास के लोगों को अपनी विचारों के बारे में बताएं. हमारे आसपास के कई लोग इस तरह की स्थितियों में हमारी मदद कर सकते हैं. उनसे चर्चा करें, आवश्यकता के अनुसार उन्हें सलाह दें. उन्हें अपनी दवाइयों के बारे में याद दिलाते रहें और  प्रोफेशनल हेल्प लेने के लिए encouraged करें.
डिप्रेशन होने पर कई कारणों से आत्महत्या के ख्याल बार-बार आ सकते हैं. अकेलापन, शराब पीने की लत, ड्रग्स की लत जैसी स्थितियां आत्महत्या के विचारों को बढ़ा सकती हैं. ऐसे में इन ट्रिगर्स को पहचानें. डिप्रेशन महसूस होने पर पीड़ित व्यक्ति के आसपास रहें, उन्हें परिवार और दोस्तों के साथ फोन पर बात करने के लिए कहें और डिप्रेशन महसूस कर रहे व्यक्ति को भावनात्मक स्तर पर बेहतर महसूस कराने की कोशिश करें. इसी तरह ड्रग और शराब के सेवन से भी बचाएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.