December 9, 2022, 12:49 am

नोएडा-ग्रेटर नोएडा को बड़ी सौगात

Written By: गली न्यूज

Published On: Tuesday July 12, 2022

नोएडा-ग्रेटर नोएडा को बड़ी सौगात

60 crore underpass to be built at Kisan Chowk: दिल्ली-नोएडा (Delhi-Noida) से ग्रेटर नोएडा होते हुए ग्रेनो वेस्ट की ओर जाने वालों के लिए एक खुशखबरी है. अब जल्द ही इस रूट से होकर जाने वाले वाहन चालकों को किसान चौक पर लगने वाले ट्रैफिक जाम (Traffic Jam) से छुटकारा मिल जाएगा. अभी कुछ मिनटों के सफर में एक-एक घंटा लग जाता है. जाम से छुटकारा दिलाने के लिए ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) ने किसान चौक पर अंडरपास बनाने की मंजूरी दे दी है.

जानकारी के मुताबिक इस अंडरपास की लागत 60 करोड़ रुपये आएगी. पर्थला गोल चक्कर (Parthala Golchakkar) पर तो फ्लाई ओवर बन रहा है. लेकिन किसान चौक (Kisan Chowk) पर जाम की परेशानी अभी तक दूर नहीं हो पाई है. हालांकि कुछ अस्थाई इंतजाम किए गए थे, लेकिन उससे भी हल नहीं निकला.

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने किसान चौक पर अंडरपास की जरूरत को देखते हुए यहां एक सर्वे कराया था. सर्वे करने वाली संस्था राइट्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि अभी किसान चौक से करीब 25 हजार वाहन जाम में फंसते हुए यहां से गुजरते हैं. लेकिन अंडरपास बनते ही वाहनों की संख्या 25 से 35 हजार तक हो जाएगी. बता दें कि, अंडरपास किसान चौक पर सूरजुपर से तिगरी जाने वाले 60 मीटर रोड पर बनाया जाएगा. इतना ही नहीं अंडरपास की डिजाइन और डिटेल प्राजेक्ट रिपोर्ट भी तैयार हो चुकी है.

पढ़ें: विदेश में नौकरी दिलाने पर लाखों की ठगी करने वाले 3 आरोपी ​गिरफ्तार, ऐसे करते थे फर्जी काम

जब किसान चौक पर ट्रैफिक दबाव ज्यादा बढ़ने लगा तो ट्रैफिक पुलिस ने अस्थाई रूप से फौरी व्यवस्था करते हुए चौराहे के दोनों तरफ 130 मीटर रोड पर दो यूटर्न बना दिए. यूटर्न बनने से हुआ यह कि किसान चौक की तरफ से सूरजपुर और नोएडा की ओर जाने वाले वाहन 130 मीटर रोड पर बने यूटर्न से होकर गुजरने लगे. इसी तरह से 130 मीटर रोड या सूरजपुर की तरफ से गौड़ सिटी और प्रताप विहार को जाने वाले वाहन नोएडा की तरफ बने यूटर्न से होकर जाने लगे.

नोएडा अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो नोएडा सेक्टर-115 के पास सोरखा गांव के पास वाले कट से बिसरख रोड की ओर एफएनजी से जोड़ने के लिए एक रैंप बनाई जा रही है. इस रैंप के बन जाने से ट्रैफिक आसानी से एफएनजी पर चला जाएगा.  इस नए रास्ते के खुल जाने से ग्रेटर नोएडा, वेस्ट और गाजियाबाद की ओर जाना दिल्ली-नोएडा वालों के लिए आसान हो जाएगा.

वहीं, नोएडा एक्सटेंशन वालों को भी गौड़ सिटी चौक, किसान चौक और पर्थला गोलचक्कर होते हुए दिल्ली की ओर नहीं आना पड़ेगा. इस रैंप की लागत करीब 12 करोड़ रुपये बताई जा रही है. माना जा रहा है कि इसी साल जून तक काम पूरा हो जाएगा और जुलाई से इस रैंप को जनता के लिए खोल दिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.